UP: ‘नीतीश खो चुके विश्वसनीयता, खतरे में INDIA गठबंधन’; कांग्रेस के बड़े नेता की पार्टी को अकेले लड़ने की सलाह

Politics स्थानीय समाचार

क्या बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनडीए के साथ जाएंगे, इस सवाल पर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि नीतीश कुमार अपनी विश्वसनीयता खो चुके हैं। उनकी वजह से INDIA गठबंधन खतरे में है।

बिहार में वर्तमान राजनीतिक स्थिति पर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार अपनी विश्वसनीयता खो चुके हैं। इसके लिए उनके फैसले और वो खुद जिम्मेदार हैं।

उन्होंने कहा कि जेडीयू और उसके नेताओं की करतूतों के कारण विपक्ष के लिए नई उम्मीद बना INDIA गठबंधन खतरे में नजर आ रहा है। कांग्रेस को पूरे देश में अकेले चुनाव लड़ने पर विचार करना चाहिए, इन बैसाखियों के सहारे इतनी बड़ी लड़ाई नहीं लड़ी जा सकती।

इससे पहले, 21 जनवरी को संभल में ऐंचोड़ा कंबोह स्थित श्री कल्कि धाम के पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा था कि राम के बिना भारत की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। राम तो भारत की आत्मा हैं। विपक्षी दल भाजपा से लड़ें लेकिन राम से नहीं लड़ें।

उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि राम राज्य का सपना तो महात्मा गांधी ने देखा था। कांग्रेस पार्टी जो महात्मा गांधी की पार्टी है वह राम विरोधी नहीं हो सकती। राम के बिना तो भारत की कल्पना भी नहीं की जा सकती। भारत के लोकतंत्र की कल्पना नहीं की जा सकती।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह का निमंत्रण ठुकराने वाले सभी विपक्षी दलों और उनके नेताओं ने भारतीय सांस्कृति और सभ्यता का अपमान किया है। निमंत्रण को ठुकराकर भारत की अस्मिता और अस्तित्व को चुनौती दी है। आगे कहा कि विपक्षी दल भाजपा से लड़ें लेकिन राम, सनातन और भारत से नहीं लड़ें। राम के निमंत्रण को तो कोई पादरी और मुसलमान भी नहीं ठुकरा सकता।