निजी ज़िन्दगी के संघर्षों को सिल्वर स्क्रीन पर भी हूबहू उकेर दिया रागिनी और अवधेश मिश्रा की जोड़ी ने ।

Entertainment

कहते हैं कि इंसान की जोड़ियां ऊपर वाला बनाकर भेजता है । और इन जोड़ियों के बनने के पीछे का लॉजिक भी अनोखा होता है, लेकिन यहां आज हम जिस अनोखी जोड़ी की बात करने वाले हैं उस जोड़ी ने निजी ज़िन्दगी के साथ साथ सिल्वर स्क्रीन को भी अपनी जीवंत अभिनय से बागबाग कर दिया है । जी हाँ आज बात हो रही है भोजपुरी फिल्मों के लेखक, निर्माता, निर्देशक और सदाबहार अभिनेता अवधेश मिश्रा और उनकी धर्मपत्नी रागिनी मिश्रा के बारे में । अपने निजी जिंदगी के संघर्षों को पीछे छोड़कर इस जोड़ी ने आज एक परिंदा फ़िल्म में ऐसा चमत्कारिक अभिनय किया हैं कि जो भी इस फ़िल्म / ट्रेलर को देख रहा है वो ही दांतो तले उंगली काटने को मजबूर हो जा रहा है । जी हां आज जहाँ एक तरफ कोई नारीशक्ति घर गृहस्ती में रमकर अपनी आंतरिक इच्छाओं को दबाकर रह जाती हैं वहीं उससे ऊपर उठते हुए रागिनी मिश्रा ने निजी ज़िन्दगी में ना सिर्फ अपनी माँ होने का फर्ज बखूबी निभाया बल्कि वे एक बेहतरीन पत्नी, एक आदर्श माँ के साथ आज एक बेहतरीन अभिनेत्री के तौर पर उभरकर एक परिंदा में सामने आई हैं । रागिनी मिश्रा ने इस फ़िल्म में वो करके दिखा दिया है जिसको करने के लिये कई सालों की कड़ी मेहनत और संघर्षों के बाद भी लोग इतनी आसानी से नहीं पहुंच पाते । एक तो पहली ही फ़िल्म उसमें भी डबल शेड की अभिनय कौशल जितनी सहजता से रागिनी मिश्रा ने दिखाया है उतना सरल तो अभिनय बिल्कुल ही नहीं हो सकता । यह या तो कोई समर्पित अभिनेत्री या फिर कोई ईश्वरीय वरदान प्राप्त इंसान ही कर सकता है ।


भोजपुरी फिल्म ”एक परिंदा” के लेखक निर्देशक भी अवधेश मिश्रा ही हैं । उन्होंने इस फ़िल्म में लीड अभिनेता का किरदार भी किया है और उनके इस सफर में असल जिंदगी की पार्टनर रागिनी मिश्रा ने भी अभिनय की हर कसौटी पर उनका साथ दिया है । बताते हैं कि अवधेश मिश्रा के संघर्ष के दिनों से एकसाथ रही उनकी पत्नी रागिनी ने अपने सम्पूर्ण दायित्वों का निर्वहन करने के बाद में इस ऑनस्क्रीन अभिनय का समय निकाला है जो वाक़ई काबिले तारीफ़ है । दोनों पति पत्नी की इस जोड़ी ने सिल्वर स्क्रीन पर एक अलग ही शमां बांधा है , और उम्मीद यही है कि दर्शकों का भी भरपूर प्यार आशीर्वाद इस जोड़ी को मिलेगा ।