सुमित सिंह चन्द्रवंशी को मिला सर्वश्रेष्ठ गीतकार (Best Lyricist) का अवार्ड

Entertainment
कहते हैं कि शिद्दत से कुछ भी कर गुजरने का ठान लो तो सारी कायनात लग जाती हैं, वह सपना साकार बनाने में। जी हाँ! यह मिसाल कायम किया है गीतकार से गायक और नायक बने सुमित सिंह चन्द्रवंशी ने। भोजपुरी इंडस्ट्री का ऐसा नायाब हीरा जिसने जो सोचा वह दिल से किया और अब हर किसी को विश्वास हो गया है कि सुमित सिंह चन्द्रवंशी हरफनमौला कलाकार हैं, जोकि हर फन में माहिर हैं। यही जुझारूपन की वजह से सुमित चन्द्रवंशी को जहां पिछले वर्ष बेस्ट डेब्यू एक्टर का अवार्ड मिला था, वहीं इस साल बेस्ट गीतकार के अवार्ड से उन्हें सम्मानित किया गया।
उल्लेखनीय है कि अठारहवें वर्ष का भोजपुरी फ़िल्म अवार्ड 2023 में एक्टर, सिंगर व गीतकार सुमित सिंह चन्द्रवंशी को सर्वश्रेष्ठ गीतकार (बेस्ट लिरिसिस्ट) का अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया। इसके लिए अवार्ड के आयोजक व संस्थापक विनोद गुप्ता को उन्होंने तहेदिल से धन्यवाद दिया है। यह अवार्ड सुमित को फ़िल्म मेकर व वरिष्ठ फ़िल्म डायरेक्टर मनोज ओझा के हाथों प्रदान किया गया है। यह अवॉर्ड सुमित को भोजपुरी फ़िल्म ‘डोली सजा के रखना’ के हिट सांग ‘पलंग सागवान के’ के लिए मिला है, जिसे ग्लोबल स्टार खेसारी लाल यादव और इंदू सोनाली ने गाया था। गीत को मधुर संगीत से छोटे बाबा बसही ने सजाया था।
भोजपुरी फ़िल्म इंडस्ट्री के दिग्गज हस्तियों के बीच इतना बड़ा अवॉर्ड और सम्मान पाकर सुमित सिंह चन्द्रवंशी ने सभी शुभचिंतकों का तहेदिल से आभार व्यक्त करके धन्यवाद दिया। साथ अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर अपने दिल की बात लिखते हुए हुआ बहुत मार्मिक व हृदयस्पर्शी कैप्शन लिखकर पोस्ट किया है। उन्होंने लिखा है कि ‘मुझे पहली बार Best Lyricist (सर्वश्रेष्ठ गीतकार) का अवार्ड मिला। इससे पहले भी मुझे बेस्ट डेब्यू एक्टर का अवार्ड मिल चुका है। लेकिन मैं अपने कैरियर का शुरुआत गीतकारी से किया था और बेस्ट गीतकार का अवार्ड मेरे लिए बहोत बड़ा अवार्ड है। आप लोग आशीर्वाद बनाये रखें। आप लोग का आशीर्वाद रहेगा तो एक दिन बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिलेगा मुझे। धन्यवाद! भोजपुरी सिनेमा अवार्ड के अध्यक्ष ‘विनोद गुप्ता जी को…’