राहुल गांधी ने इंडिया गठबंधन की बैठक में जदयू की ओर से देशभर में जातीय जनगणना कराने का प्रस्ताव खारिज किया था

City/ State Cover Story Politics बिहार लोकसभा चुनाव 2024

गुरुवार को प्रदेश कार्यालय, पटना में बिहार सरकार के मा0 जल संसाधन मंत्री श्री विजय कुमार चैधरी ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने श्री राहुल गांधी द्वारा जातीय गणना पर दिए गए बयान को पाखंड करार देते हुए कहा कि जातीय गणना के विषय पर कांग्रेस पार्टी सहित पूरा विपक्ष देश की जनता को गुमराह कर रहा है। यह सर्वविदित है कि मा0 मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के दृढ़ संकल्प और मजबूत इच्छा शक्ति से बिहार में जातीय गणना का कार्य पूरा हुआ था। राज्य सरकार ने अपने संसाधन से ससमय जातीय गणना कराया और न सिर्फ इसके आँकड़े प्रकाशित किए बल्कि आंकड़ों के आधार पर आबादी का जो प्रतिशत समाज के लोगों का था उस अनुपात में अलग-अलग सामाजिक वर्ग के लिए आरक्षण की सीमाओं में वृद्धि की गई। श्री विजय कुमार चैधरी ने कहा कि पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण की सीमा 12 फीसदी से 18 फीसदी, अतिपिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण की सीमा 18 फीसदी से 25 फीसदी, अनुसूचित जाति के लिए 16 फीसदी से 20 फीसदी एवं अनुसूचित जनजाति के लिए 1 फीसदी से 2 फीसदी तक बढ़ाई गई। साथ ही सभी वर्ग के गरीब परिवार को चिन्हित कर उनके आर्थिक उन्नयन के लिए बिहार लघु उद्यमी योजना की शुरुआत की गई। इस योजना के तहत राज्य सरकार की ओर से गरीब वर्ग को अपना उद्योग लगाने के लिए २ लाख रुपये की सहायता राशि दी जाती है।
श्री विजय कुमार चैधरी ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य सरकार ने जिस सहजता से सफलतापूर्वक जातीय गणना कराया उससे देशभर में लोग अचंभित थे। उन्होंने कहा कि यह अजीब विडंबना है कि आज कांग्रेस पार्टी के द्वारा जातीय गणना का मुद्दा जोर-शोर से उठाया जा रहा है लेकिन उस बिहार की बात नहीं हो रही है जिसने पूरे देश में जातीय गणना का सफल माॅडल पेश करने का काम किया। साथ ही श्री विजय कुमार चैधरी ने बताया कि इंडिया गठबंधन की बैठक में जद(यू0) की ओर से पूरे देश में जातीय जनगणना कराने का

प्रस्ताव रखा गया तब श्री राहुल गांधी ने मा0 मुख्यमंत्री श्रीमती ममता बनर्जी के इशारे पर हमारे प्रस्ताव को खारिज कर दिया था और आज वही जातीय गणना को अपने जीवन का मिशन बताते नहीं थक रहें हैं, इसलिए हमारा स्पष्ट मानना है कि जातीय गणना को लेकर कांग्रेस की नियत साफ नहीं है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि राजद और कांग्रेस जनता से किए गए अपने वादों के प्रति गंभीर नहीं है। इनकी कथनी और करनी में बड़ा अंतर है। राजद और कांग्रेस ने जो घोषणा पत्र जारी किए हैं, उसे पूरा करने के लिए उनके पास कोई नीति-कार्यक्रम नहीं है। बिहार और देश की जनता को ऐसे लोगों से सजग और सतर्क रहने की जरूरत है।
उक्त मौके पर पार्टी के मा0 प्रदेश अध्यक्ष श्री उमेश सिंह कुशवाहा, विधान परिषद के मुख्य सचेतक श्री संजय कुमार सिंह उर्फ ‘गांधी जी’, मा0 विधान पार्षद सह पार्टी के कोषाध्यक्ष श्री ललन कुमार सर्राफ, मा0 विधान पार्षद सह पार्टी के राष्ट्रीय सचिव श्री रविंद्र प्रसाद सिंह एवं श्री डाॅ0 नवीन आर्या मौजूद रहें।