गौरीकुंड भूस्खलन: तीन शव बरामद, 19 लोगों के लापता होने की सूचना

Business Career/Jobs City/ State Cover Story Crime Education Entertainment Exclusive Health International Life Style National Politics Press Release Regional Sports Technology अन्तर्द्वन्द धर्म/अध्यात्म स्थानीय समाचार

भारी बारिश से केदारनाथ धाम के मुख्य पड़ाव गौरीकुंड में पहाड़ी से मलबा गिरने से तीन दुकानें जमींदोज हो गईं। मलबे की चपेट में आकर 19 लोगों के लापता होने की सूचना मिल रही है। जिस वक्त पहाड़ी से मलबा गिरा, उस समय दुकान में कई लोग सो रहे थे। इसमें ज्यादातर लोग नेपाली मूल के बताए जा रहे हैं। इन लोगों का कुछ पता नहीं लग पा रहा है।
मौके पर पहुंची एसडीआरएफ टीम ने तीन शव बरामद कर लिए हैं। केदारनाथ यात्रा रोकी गई है। तीन लोगों के शव के बरामद होने की पुष्टि जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने किया। उन्होंने कहा कि गौरीकुंड डाटपुलिया के समीप भारी भू-स्खलन से लापता हुए 19 लोगों का सर्च रेस्क्यू ऑपरेशन एवं खोजबीन कार्य जारी है।

रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान अब तक तीन लोगों के शव बरामद किए गए हैं, जिनकी शिनाख्त की जा रही है। साथ ही अन्य लापता लोगों का रेस्क्यू एवं खोजबीन का कार्य जारी है।
आशंका जताई जा रही है कि हादसे में लापता चल रहे लोग मंदाकिनी नदी की तेज धारा में बह गए होंगे। फिलहाल बारिश जारी है और रेस्क्यू अभियान नहीं चल पा रहा है।घटना वाले स्थान पर कुछ भी नही मिला है। नीचे से मंदाकिनी नदी भी उफान में बह रही है। बारिश रुकने पर ही दोबारा रेस्क्यू अभियान शुरू किया जाएगा।

ये भी है इस हादसे में लापता:- बीर बहादुर पुत्र हरि बहादुर, सुमित्रा पत्नी बीर बहादुर, निशा पुत्री बीर बहादुर, निवासी ग्राम व थाना राया जिला होमला अंचल करनाली नेपाल लापता बताए जा रहे हैं। जिनका घटनास्थल पर ढाबा था। ढाबे में खाना खाने आए धर्मराज बूढ़ा पुत्र मुनबहादुर, निवासी पेरे वार्ड नंबर-2 चौरा जिला जमुला अंचल, जिला करनाली नेपाल, चंद्र कामी पुत्र लाल बहादुर एवं सुखराम रावत पुत्र जोरा, निवासी चौरा वार्ड नंबर-2, चौरा जिला जमुला अंचल करनाली, नेपाल, भी घटना के बाद लापता बताए जा रहे हैं।

Compiled: livexpress