जातक आम या खास नहीं सिर्फ जातक होता है

Cover Story Entertainment

ज्योतिष के अध्यन के दौरान जब आप कुंडली देखना शुरु करेंगे तो आपके पास समाज के हर क्षेत्र में लोग अपनी परेशानियां लेकर आयेंगे। अगर आप उनकी सच में मदद करना चाहते हैं तो जातक को सिर्फ जातक समझिए। यानी एक ऐसा व्यक्ति जो अपनी समस्या का समाधान जानने आया है।

बिना किसी का नाम लिए, बिना किसी की भावना आहत किए, कुछ उदाहरणों के जरिए देखते हैं। जिनसे आपको समझ में आएगा। राजा हो या रंक समस्याएं लगभग सभी की एक जैसी ही हैं। मुझे तो कई बार ये लगता है, बड़े लोगों के साथ समस्या और थोड़ी ज्यादा है। क्योंकि वो खुलकर रो भी नहीं सकते। और ना ही गलत करने वाले को गाली दे सकते हैं। ज्यादातर मौकों पर उन्हें मन मारकर ही सही मुस्कुराना पड़ता है। वो भी जब तक जबड़े ना दुखने लगें। पेन किलर लेकर परफॉर्म करने वाले तो कई खिलाड़ी कई कलाकार आपको अक्सर दिखते ही रहेंगे।

कुछ समय पहले देश के एक धनाढ्य व्यक्ति के बेटे की तस्वीर देखी। जिसमें उनके बेटे का शरीर बेडौल और सर के बाल कुछ उड़े हुए थे। मिडिया रिपोर्ट्स से पता चला गंभीर बीमारियों की वजह से स्ट्रेरॉयड लेने की वजह से ये स्थिति हुई। एक बड़ी कंपनी की सीईओ पर कानूनी कारवाई हुए। जिसके परिणामस्वरूप उनके बेटे की डेस्टिनेशन वेडिंग टूट गई। एक विश्वप्रसिद्ध अभिनेता के पुत्र को ड्रग के मामले में पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बड़ी मुश्किलों से जमानत हो पाई। एक विश्व प्रसिद्ध खिलाड़ी इस कोशिश में लगे हैं कि उनका बेटा भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण कर ले।

अगर इस सभी स्थितियों में से उन व्यक्तियों को हटा दिया जाए तो आप पायेंगे ये सभी वो समस्याएं हैं। जिनसे आपको, आपके परिजनों को, आपके मित्रों को दो-चार होना पड़ता है। दवाइयों की वजह से तो मैं भी एक बार मोटापे का शिकार हो गया था। मेरे कई दोस्त बाल उड़ जाने से परेशान हैं। जबकि वो अनेकों तरह के तेल लगा चुके, नाखून घिस चुके, लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ। कई शादियां टूटते हुए और उसकी वजह से पूरे परिवार को दुखी होते हुए। कई बार आपने भी देखा होगा। ऐसे धनाढ्य लोग भी देखे होंगे। जिनके बच्चे उतना सफल नहीं हो पाए जितना वो चाहते थे। और आपने शहर में ऐसा भी कोई ना कोई मामला जरूर देखा होगा। जिसमें परिवार के किसी सदस्य की वजह से पूरे परिवार को थाने के चक्कर लगाने पड़े होंगे या जेल जाना पड़ा होगा।

ऊपर लिखी बातें, और दिए गए उदाहरणों में बताई गई समस्याएं बड़ी आम सी हैं। तो यकीन मानिए इन समस्याओं के समाधान भी बिल्कुल आम से ही होंगे। बस आपको जातक को जातक समझना है। उसके प्रभाव में नहीं आना है। और ना ही उस पर प्रभाव छोड़ने की कोशिश करनी है।

कभी भी पैदल आने वाले, बाइक में आने वाले, गाड़ी में आने वाले या गाड़ी के काफिले में आने वाले जातक में फर्क मत कीजियेगा। कई बार कुंडली का अध्ययन करने के बाद पाएंगे जो व्यक्ति आपको रंक दिख रहा है। वो तो असल में राजा है। और जो आपको राजा दिख रहा है। वो रंक है। एक डॉक्टर भी व्यापारी हो सकता है और एक व्यापारी भी डॉक्टर हो सकता है।

ज्योतिष के विद्यार्थी के तौर पर हमेशा वह देखने की कोशिश कीजिए जो असल में है ना कि वह जो दुनिया आपको दिखा रही है।